हिप्पो ने 2 साल के बच्चे को निगला, थूक कर जिंदा बाहर निकाला

कल के लिए आपका कुंडली

हिप्पो अफ्रीका के सबसे आक्रामक और खतरनाक जानवरों में से एक है। वे लोगों, यहाँ तक कि बच्चों पर हमला करने और उन्हें मारने के लिए जाने जाते हैं। इसलिए जब एक 2 साल के बच्चे को हिप्पो ने पूरा निगल लिया, तो हर कोई हैरान रह गया कि वह बच गया।



हिप्पो ने 2 साल के बच्चे को निगला, थूक कर जिंदा बाहर निकाला

लॉरिन स्नैप



Unsplash के माध्यम से क्रिस स्टेंगर

युगांडा का एक 2 साल का लड़का भाग्यशाली है कि एक दुष्ट दरियाई घोड़े ने उसे पूरा निगल लिया और उसे वापस थूक दिया।

पुलिस की रिपोर्ट के अनुसार युगांडा पुलिस बल , इगा पॉल अपने घर के पास खेल रहा था जब हिप्पो ने संपर्क किया, उसे सिर से पकड़ लिया और उसके आधे शरीर को निगल लिया।



लड़के की जान बचाने के लिए पुलिस ने एक गवाह क्रिसपास बैगोन्ज़ा को श्रेय दिया।

बगोन्ज़ा ने विचित्र मुठभेड़ को देखा और तेजी से हिप्पो पर पत्थर फेंकना शुरू कर दिया। चट्टानों से डरकर जानवर ने छोटे लड़के को अपने मुंह से छुड़ा लिया।

अधिकारियों का कहना है कि अतिरिक्त इलाज के लिए अस्पताल ले जाने से पहले पॉल को पास के एक मेडिकल क्लिनिक में ले जाया गया। पॉल को रेबीज का टीका भी लगाया गया था।



लड़का तब से पूरी तरह से ठीक हो गया है।

जहां तक ​​हिप्पो की बात है, अधिकारियों का मानना ​​है कि जानवर ने एडवर्ड झील से यात्रा की थी, जो घटना के स्थान से लगभग आधा मील की दूरी पर स्थित है।

लेक एडवर्ड युगांडा और कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य के बीच स्थित है।

अधिकारियों का दावा है कि यह पहली बार है जब एक दरियाई घोड़ा एडवर्ड झील से भटक कर एक छोटे बच्चे पर हमला कर चुका है।

हालांकि हिप्पो शाकाहारी हैं, नेशनल ज्योग्राफिक हिप्पो को अफ्रीका के सबसे खतरनाक जानवरों में से एक बताते हैं।

जबकि हिप्पो आमतौर पर आक्रामक नहीं होते हैं, उनकी घातक ताकत और पानी के नीचे की गति उन्हें मनुष्यों के लिए खतरा बनाती है।

नेशनल ज्योग्राफिक अनुमान है कि हिप्पो के हमलों से हर साल 500 से 3,000 लोगों की मौत होती है।

जानवर का नाम 'नदी के घोड़े' के लिए प्राचीन ग्रीक शब्द से निकला है।

लेख जो आपको पसंद हो सकते हैं